डंकाराम विशेषबिलासपुर

बिलासपुर विधायक की लेटलतीफी को रतनपुर नगरवासियों का करार जवाब ..!
खाली कुर्सियां देख नेताजी ने मीडिया से बनाई दूरी..!
आखिर जनता ने क्यों बजाई ताली .?
पढ़िए खबर   ! सुनिए पूरा भाषण …

डेस्कखबर – बिलासपुर जिले के रतनपुर में आयोजित माघी पूर्णिमा एवं आदिवासी विकास मेला का आयोजन किया गया है। इस मेला में क्षेत्र सहित जिले भर से लोग मेले का लुप्त उठाते हैं। इस मेला के उद्घाटन के लिए मुख्य अतिथि के रूप में भूतपूर्व केबिनेट मंत्री व बिलासपुर विधायक अमर अग्रवाल को वीआईपी कल्चर अपनाना  भारी पड़ गया। कार्यक्रम का शुभारंभ शाम साढ़े सात(7:30) बजे होना था लेकिन विधायक महोदय समय की गरिमा को भूल गए और कार्यक्रम में काफी देर से पहुँचे। जिसका खामियाजा विधायक जी को चुकाना पड़ा हजारों लोग मुख्य अतिथि अमर अग्रवाल के आगमन का इंतजार करते रहे और इतना विलंब हुआ कि मेला में उपस्थित जनसैलाब उनके आने से पहले सन्नाटा में तब्दील हो गया । विधायक महोदय रात करीब 12 बजे मेला में पहुंचे जहां खाली कुर्सियां उनका इंतजार कर रही थी। भीड़ को नदारद देख विधायक जी का मूड खराब हो गया यही वजह है,कि वे नाराज होकर चले गए और मीडिया से भी बात नहीं की।

पूर्व मंत्री अगर समय रहते कार्यक्रम में उपस्थित होते तो उन्हें उद्बोधन में खाली कुर्सियां नही देखनी पड़ती और उनके साथ ऐसा नहीं हुआ होता हालाकि विधायक जी ने  खाली कुर्सियां देख कर आयोजन समिति को ही कटघरे में खड़ा कर दिया .आयोजन समिति द्वारा पर्याप्त राशि होने के बाद भी समुचित व्यवस्था नहीं जाती है और न ही साफ सफाई और सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम किए जाते है जिसके कारण आसपास के लोग इस ऐतिहासिक मेले से दूरी बनाने लगे है ..हालाकि विधायक जी ने अपनी मंचीय भाषण के दौरान नेताओ के देरी के आने की जब वजह बताई तो वहा मौजदु लोगो के हाथो से ताली और जुबान से हंसी निकल ही गई ।