छत्तीसगढ़बिलासपुर

कांग्रेस ब्लाक अध्य्क्षऔर गुर्गो की गुंडागर्दी ..!
महिलाओ और ग्रामीणों से की गालीगलौच ..!
बस्ती वासियो ने जमकर की कांग्रेसियो की पिटाई ..!
खाकी फिर सवालों के घेरे में ..!
देखिये EXCULISVE VIDEO…

बिलासपुर।कांग्रेसी नेताओं को सत्ता का नशा इस कदर हावी है कि अब कांग्रेसी नेता अपने कार्यकर्तों के साथ भरे मंच गुंडागर्दी करने से बाज नही आ रहे है । बिलासपुर की धार्मिक नगरी रतनपुर से कांग्रेसियो का हैरान करने वाला वीडियो सामने आया है ..वीडियो सामने आने के बाद से पार्टी की फजीहत हो रही है ..वीडियो में साफ साफ देखा जा सकता है कि रतनपुर ब्लाक अध्यक्ष रमेश सूर्या और उसके गुर्गो की मंच पर ग्रामवासी पिटाई कर रहे है इस दौरान ब्लाक अध्यक्ष रमेश सूर्या को भी खुद की और एक के बाद एक थपड रसीद करते नजर आ रहे है और अपने कार्यकर्ताओ की सरेआम पिटाई देख गुस्सा आता है और फिर कुर्सी उठाकर महिला पर हमला करने की कोशिश करते है लेकिन फिर एक ग्रामीण युवक को गुस्से को देखकर रमेश सूर्या ठंडे पड़ जाते है ।

दरसल रतनपुर में राजीव गाँधी यूवा मितान क्लब द्वारा कल दर्री पारा प्राथमिक स्कुल मे खेल कूद का आयोजन किया जहाँ स्कुल के बच्चों को पुरुस्कार वितरण करने के लिए रतनपुर ब्लाक अध्यक्ष रमेश सूर्या अपने कार्यकर्ता के साथ पहुचे जहां उनके साथ ले गए कांग्रेसी कार्यकर्ता राजा, रवि रावत द्वारा गांव के ही एक युवक से किसी बात पर कहासुनी हो गई और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने युयक की गुस्से में पिटाई कर दी .! जिसकी खबर लगते ही ग्रामवासी आगबबूला हों गए और मंच पर ही कांग्रेसी ब्लाक अध्य्क्ष और कार्यक्रताओं की जमकर खातिरदारी कर दी .. बताया जा रहा है कि इन्हीं आदतों के कारण राजा रवि रावत को एक बार रतनपुर के युवाओं ने दौड़ा दौड़ा कर मारा था जो थाने में जाकर मामला शांत हुआ था पूर्व में रवि रावत के खिलाफ में छेड़खानी के मामला भी दर्ज है.! अब देखना होगा कि वीडियो सामने आने के बाद कांग्रेसी हाइकमान ब्लाक अध्य्क्ष पर क्या कार्यवाही करता है ।

पुलिस पर लगा सत्त्ता के दबाब में ग्रामीणों को डराने का आरोप

वही नाम न छापने की शर्त में एक ग्रामीण युवक ने जानकारी देते हुए पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए है । युयक से मिली जानकारी के बाद ब्लाक अध्य्क्ष रमेश सूर्या ने सत्ता का डर दिखा कर पहले तो गालीगलौच की और बाद में नेताजी के इशारे पर रतनपुर पुलिस ने गाव से कुछ युवको को थाने में घण्टो बैठा दिया । जब ग्रामीण युवको ने भी घटना के सच बताते हुए रमेश सूर्या और कार्यकर्तओं के खिलाफ शिकायत करनी चाही तो पुलिस ने वर्दी का ख़ौप दिखाकर युवको को डराया धमकाया और किसी समझौता कर सत्ता की सच्ची भक्ति कर मामले को शान्त करवाया ..! क्योकि हालही की घटना में बिलासपुर पुलिस ने मीडिया संस्थानों द्वारा एक गुंडे को कांग्रेसी लिखने पर नारजगी जाहिर करते हुए बाकायदा गुंडे के कांग्रेसी होने के दावे को खारिज करने के लिए प्रेस नोट जारी किया था जिसपर पूरे प्रदेश में बिलासपुर पुलिस की जमकर फजीहत हुई थी और कुछ बीजेपी नेताओं ने तो बिलासपुर पुलिस को कांग्रेसी मिडिया सेल के तमगे से नवाज भी दिया था ..और इस मामले में भी कांग्रेस की साख दांव पर लगी हुई थी तो पुलिस ने फ़िर एक बार सत्ता के प्रति अपना फर्ज निभा दिया ।