कोरबाछत्तीसगढ़राजनीति

कोरबा कांग्रेस प्रत्याशी का लोगों को ना नाम मालूम और ना काम । प्रचंड बहुमत से कोरबा करेंगे फतह । नेताप्रतिपक्ष चरणदास महंत के बयान पर तीखा प्रहार ।
चुनावी घमासान के बीच आया नया मुद्दा….!!!
क्या मतदाताओं को लुभाने यही, रह गया है मुद्दा…??

डंकाराम / छत्तीसगढ़/ डेस्क/ कोरबा/
छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटों के लिए चुनावी मैदान राजनीतिक दलों का घमासान शुरू हो चुका है…. देश की प्रमुख राजनीतिक दलों में अधिकांश जगहों पर मुक़ाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच हो रहा है…. दोनो दलों के द्वारा लोकसभा सीटों के लिए प्रत्याशी घोषित कर दिए जाने के बाद राजनीतिक दलों के द्वारा बनाए प्रभारी और उनके कार्यकर्ता अपने अपने समर्थकों के साथ  चुनावी प्रचार में जुट गए है…. प्रचार के दौरान बड़े नेताओं के कुछ बयान आने वाले दिनों में जहां सुर्खियां बटोरेंगे तो कुछ नेताओ के बयान पर आरोप प्रत्यारोप का दौर भी शुरू होगा… तो वहीं कुछ नेताओ के बयान चुनावी मुद्दा भी बन जायेंगे…. जैसा कोरबा लोकसभा सीट में हो रहा है….यहां पर केंद्रीय स्तर पर दखल रखने वाली भाजपा नेत्री सरोज पांडे का मुक़ाबला कांग्रेस की और से प्रत्याशी…ज्योत्सना महंत के बीच हो रहा है… सभी जानते है कि ज्योत्सना महंत वर्तमान में वहा से सांसद है इसलिए मजबूत दावेदारी के तौर पर पार्टी ने ज्योत्सना पर दुबारा भरोसा जताते हुए उन्हें टिकट दिया है… तो दूसरी तरफ भाजपा की दिग्गज नेता सरोज पांडे जो किसी परिचय की मोहताज नहीं है…पार्टी ने उन्हें वहां से टिकट दी है…. यानी इस सीट को हाई प्रोफाइल सीट माना जा रहा है….वर्तमान में इस सीट में कोई बहुत प्रभावी मुद्दा तो अब तक सामने नहीं आया है लेकिन भाजपा और कांग्रेस की जुबानी तकरार में “सुरक्षित” शब्द का मुद्दा ज्यादा छाया हुआ है…. दरअसल नेता प्रतिपक्ष चरण दास महंत के एक बयान पर राजनीति जमकर गर्मा गई है….जिस पर भाजपा सरकार में मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल ने पलटवार किया है… सुनिए मंत्री जी का बयान…

श्याम बिहारी जायसवाल



बीजेपी के मंत्री ने बयानबाजी के बीच ये दावा ठोक दिया है कि भाजपा के लिए ये सबसे सुरक्षित सीट है…मंत्री जी ने यहां तक कह दिया है कि कोरबा से ज्यादा सुरक्षित सीट कोई हो नही सकती….
कुछ इसी तरह का बयान भाजपा के एक और नेता है…. जो भाजपा सरकार में मंत्री रह चुके है जरा उनका चुटीला अंदाज सुनिए कि  उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी पर किस तरह की चुटकी ली …. जरा सुनिए और थोड़ा आप भी मजा लीजिए….

भईया लाल राजवाड़े



आने वाले दिनों में राजनीतिक मुद्दों के बीच कुछ इसी तरह के बयानबाजी के दौर और चुटिला अंदाज अभी और भी सुनने मिलेगा…. जनता इससे कितना इत्तेफाक रखती है ये तो खुद जनता तय करेगी…. वैसे ये बात सभी जानते है कि हर चुनाव मुद्दे के इर्द गिर्द घूमता है… मुद्दो के जरिए ही राजनीतिक दल जनता को लुभाते है…. हालाकि अभी ये शुरुआती समय है इसलिए मुद्दो में उतनी धार नजर नहीं आ रही है … घिसे पिटे वायदे और बयानबाजी के बीच प्रत्याशी के निष्क्रिय रहने की बाते नई नहीं है…. इसलिए “सुरक्षित” और “बाहरी” का मुद्दा  मतदाताओं को लुभाएगा या सिरदर्द बढ़ाएगा इसके करना होगा इंतजार किसी अगले मुद्दे का…….