बिलासपुर

पुलिस की पिटाई से युवक की मौत का आरोप, पुलिस बोली लूट कर भाग रहा था आरोपी,गिर कर मर गया,! आरोप मिट्टी में गिरने से कैसे लगेगी चोट !

बिलासपुर – पुलिस की पिटाई से 25 वर्षीय युवक की मौत का आरोप पुलिस पर लगा है। जबकि पुलिस का कहना है कि लूट की घटना को अंजाम देते समय पुलिस के पहुंचने से भागने के दौरान खेत में गिरने से युवक की मौत हुई है। आरोपों के बाद एसपी ने एडिशनल एसपी को घटना की जांच के लिए जांच अधिकारी बनाया है।

बिलासपुर। राजधानी बिलासपुर की पुलिस एक बार फिर सवालों के घेरे में है। पुलिस की पिटाई से मौत का आरोप मृतक के दोस्तों व परिजनों ने लगाया है। जबकि पुलिस का कहना है कि मृतक लूट की घटना को अंजाम देकर भाग रहा था। इस दौरान अत्यधिक शराब में नशे में गिरने से उसकी मौत हो गई।। जबकि परिजनों व दोस्तों का आरोप है कि खेत की मिट्टी में गिरने से मौत नहीं हो सकती यह पुलिस की मारपीट से ही हुई है। मामला कोनी थाना क्षेत्र का है।

कोनी थाना क्षेत्र के लोखंडी ओवर ब्रिज के पास एक युवक की लाश आज सुबह मिली । लाश के शरीर में जगह-जगह चोट के निशान थे। कोनी पुलिस के अनुसार सुबह 8:30 बजे सूचक के द्वारा थाने में आकर बताया गया कि लोखंडी ओवर ब्रिज के पास खेत में एक व्यक्ति मृत पड़ा हुआ है। उसकी शिनाख्त रोशन ध्रुव के रूप में हुई। पुलिस के अनुसार बीती रात्रि करीब 1:30 बजे नेशनल हाईवे लोखंडी और ब्रिज के पास दो मोटरसाइकिल में सवार चार ज्ञात आरोपियों के द्वारा एक स्वराज माजदा के ड्राइवर एवं हेल्पर को डरा धमका कर लूट का प्रयास किया जा रहा था तभी कोनी पुलिस पेट्रोलिंग पहुंच गई। पुलिस को देखकर आरोपी भागने लगे। जिसमे एक आरोपी गिरफ्तार हो गया जबकि दूसरा फरार हो गया। पकड़े गया आरोपी के खिलाफ पुलिस ने लूट का अपराध दर्ज किया जबकि उसके फरार साथियों की तलाश कर रही है। पुलिस के अनुसार पकड़ा गया आरोपी किशन अत्यधिक शराब के नशे में था। जबकि फरार आरोपी रोशन ध्रुव की सुबह लोखंडी ओवर ब्रिज के पास खेत में लाश पड़ी मिली।

घटना के बाद जब मृतक की लाश पोस्टमार्टम के लिए सिम्स लाया गया तो यहां मृतक के दोस्तों ने पुलिस पर पीट पीट कर हत्या का आरोप लगाया। युवक के दोस्त विष्णु साहू ने बताया कि वह अपने दोस्त रोशन और अजरंग साहू के साथ घूमने गया था। तीनों रात 10:00 बजे तक साथ थे। दोनों रोशन को घर छोड़कर चले गए शनिवार सुबह पुलिस का ड्राइवर आया और बताया कि रोशन की मौत हो गई है। जब सुबह 9:00 बजे मौके पर पहुंचे तो शरीर में जगह जगह चोट के निशान थे। युवक के दोस्त विष्णु साहू ने बताया कि जिसे पुलिस लूट का आरोपी बता रही है उससे वह जब थाने में मिलने गया तो पहले तो पुलिस वाले उससे मिलवा नही रहे थे। फिर जब थोड़ी देर के लिए मिलने को मिला तब किशन ने बताया कि उन्होंने कोई लूट नही की है। फिर पुलिस वालों ने आगे बात करने से मना करते हुए मिलने से रोक दिया। सिम्स में हंगामें के दौरान कोनी के पेट्रोलिंग में चलने वाले आरक्षक शैलेंद्र साहू के द्वारा मारपीट करने की बात मृतक के दोस्तों ने कही। मृतक के दोस्तों के अनुसार मृतक शनिचरी बाजार में ठेला लगाता था। वह सरकंडा के अशोकनगर चौक में रहता था। मूलतः वह रतनपुर का रहने वाला है। मृतक के दोस्तों का कहना है कि वह रतनपुर जाने के लिए निकला था और वाहन का इंतजार कर रहा था।

खेत में गिरने से मौत का बता रहें कारण, चोटों से कर रहे इंकार, जबकि शरीर में है चोट:–

पुलिस के अनुसार भगाने के दौरान खेत में गिरकर चोट लग गई। जबकि परिजनों और दोस्तों का आरोप है कि मिट्टी से भरे खेत में गिरने से इतनी चोट कैसे लगेगी। मिट्टी में गिरने से सर भी नहीं फटता। अधिकारियों के अनुसार शरीर में कोई चोट के निशान नहीं है। जबकि मौके पर जाकर लाश को देखने पर शरीर में गंभीर चोट की निशान दिखे।

मौत के बाद लूट की एफआईआर::–

पुलिस ने राकेश शर्मा पिता स्वर्गीय ललित शर्मा उम्र 36 वर्ष निवासी नयागंज भाटापारा जिला बलौदा बाजार के लिखित रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 200/2024 धारा 393 का अपराध दर्ज किया है। जबकि इस मामले में पुलिस पर आरोप है कि पुलिस की पिटाई से हुई मौत के बाद मृतक व उसके साथी पर मामले की लीपापोती करने के लिए लूट का अपराध दर्ज किया गया। मृतक के दोस्त ने भी मीडिया से कहा कि थाने में मुलाकात के दौरान लूट के बनाए गए आरोपी ने भी लूट से इंकार किया है।

मामले में शिकवा शिकायतों के बाद पुलिस ने प्रेस रिलीज जारी कर फॉरेंसिक टीम के द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण करने को परिस्थितियों एवं चश्मिददों से प्रारंभिक पूछताछ में अंधेरे खेत में भगाने के दौरान अत्यधिक शराब के नशे में होने से गिरने से मृत्यु होना की बात कही है। पोस्टमार्टम के बाद अग्रिम कार्यवाही की बात कही गई है। घटना की जांच के लिए बिलासपुर एसपी ने एडिशनल एसपी सिटी को निर्देशित किया है।